Photo:FILE Stock Market

Multibagger Stock : इस सरकारी कंपनी के शेयर ने साल भर में दिया 72% रिटर्न, रोज बना रहा नया हाई

माना जा रहा है कि इनफ्लो में सुधार और अच्छे वर्किंग कैपिटल मैनेजमेंट से BEL को आगे मजबूती मिलने का अनुमान है

बीईएल की 68वीं एजीएम में शेयरहोल्डर्स के बोनस इश्यू और 150 फीसदी डिविडेंड को मंजूरी देने के बाद शेयर में रैली देखने को मिल रही है

Bharat Electronics Share : सरकार के स्वामित्व वाली एयरोस्पेस और डिफेंस इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी भारत इलेक्ट्रॉनिक्स (BEL) ने शुक्रवार, 2 सितंबर को बीएसई पर 2 फीसदी की तेजी के साथ 327 रुपये का अपना नया हाई बनाया। शेयर लगभग पिछले कई दिन से अपना नया हाई बना रहा है। सुबह 9.45 बजे शेयर 1.80 फीसदी की मजबूती के साथ 326 रुपये के आसपास बना हुआ है। एक दिन पहले गुरुवार को भी शेयर में 4 फीसदी की दमदार रैली देखने को मिली थी।

दो साल में दिया 195 फीसदी रिटर्न

पिछले दो साल में 195 फीसदी से ज्यादा के दमदार रिटर्न के साथ बीईएल (BEL) मल्टीबैगर शेयर साबित हुआ है। 1 सितंबर, 2020 को शेयर 108 रुपये के स्तर था। पिछले एक साल के दौरान बाजार में उतार-चढ़ाव के बावजूद शेयर ने लगभग 72 फीसदी का रिटर्न दिया है। बीते साल 1 सितंबर को यह शेयर 189.60 रुपये के स्तर पर था।

दुनिया में इस वजह से है टॉप पर Nifty, Zerodha के फाउंडर ने समझाया पूरा गणित

Indian Stock Market: दुनिया के बड़े-बड़े बाजारों जैसे एसएंडपी 500 और निक्की की तुलना में भारतीय शेयर बाजार ज्यादा एक्सपेंसिव है. शेयर ब्रोकिंग सर्विस मुहैया कराने वाली कंपनी जेरोधा के को-फाउंडर निखिल कामथ ने दो इंडिकेटर्स के जरिए इसका पूरा गणित समझाया है.

दुनिया के सबसे महंगे बाजारों में भारतीय स्टॉक मार्केट

aajtak.in

  • नई दिल्ली,
  • 25 जून 2022,
  • (अपडेटेड 25 जून 2022, 7:17 PM IST)
  • Nifty-50 का इंडेक्स पीई रेशियो 19.9
  • शेयर मार्केट का बफेट इंडिकेटर 94%

भले ही नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी-50 (Nifty 50) इंडेक्स अपने अभी अपने रिकॉर्ड हाई से 16 फीसदी नीचे आ गया है, लेकिन इसके बाद भी भारतीय शेयर बाजार (Stock Market) दुनिया के अन्य स्टॉक मार्केटों की तुलना में सबसे ज्यादा एक्सपेंसिव है. यह हम नहीं कह रहे, बल्कि जेरोधा (Zerodha) और ट्रू-बीकन (True Beacon) के को-फाउंडर निखिल कामथ (Nikhil Kamath) ने इसका पूरा गणित समझाया है. कामथ के मुताबिक अमेरिका और जापान के बाजार भी भारत से सस्ते हैं.

इंडेक्स पीई अनुपात आधिक

निखिल कामथ का दो इंडिकेटर्स के आधार पर कहना है कि भारतीय शेयर बाजार दुनिया के अन्य देशों के बाजारों से एक्सपेंसिव है. पहला उन्होंने बताया कि निफ्टी-50 का इंडेक्स पीई रेशियो (Index PE Ratio), एसएंडपी 500 (S&P) और निक्की 225 (Nikkei) से भी ज्यादा है, जो कि इसे सबसे महंगा बाजार बनाता है. रिपोर्ट के मुताबिक हाई पीई इंडेक्स रेशियो ज्यादा होने का मतलब होता है कि बाजार की जो टोटल वैल्यू है उसके अनुपात में उतना रिटर्न नहीं है. ऐसे में निफ्टी दुनिया के सबसे महंगे शेयर बाजारों में से एक है.

सम्बंधित ख़बरें

Paytm निकला दशक का सबसे बर्बाद IPO, निवेशकों के 79% पैसे डूबे!
सेंसेक्स ने रचा इतिहास, टूटा पिछला रिकॉर्ड. All Time High पर पहुंचा इंडेक्स
क्यों बेचनी पड़ रही है Bisleri? कंपनी मालिक ने बताई वजह. बेटी का जिक्र!
एक से बढ़कर एक रॉकेट बनाती है कंपनी, एक साल से शेयर भी बना रॉकेट!
बैंक ब्याज से ज्यादा Dividend में बांट दे रही ये कंपनी, निवेशकों की मौज!

सम्बंधित ख़बरें

पीई रेशियो (प्राइस अर्निंग रेशियो) की गणना इंडेक्स मार्केट कैप (Market Cap) को ग्रॉस इनकम से डिवाइड करके निकाली जाती है. आसान भाषा में समझें तो इसका मतलब निफ्टी पर लिस्टेड कंपनियों की कुल मार्केट वैल्यू और उनसे हासिल होने वाले रिटर्न का अनुपात है. निफ्टी का इंडेक्स पीई अनुपात अभी 19.9 है, जबकि एसएंडपी और निक्की का क्रमशः 18.95 और 18.79 है. इसके अलावा ब्रिटेन, जापान, शंघाई, ब्राजील और जर्मनी जैसे अन्य बाजारों के प्रमुख इंडेक्स भारत की तुलना में और भी ज्यादा सस्ते हैं.

शेयर बाजार

बफे इंडिकेटर के हिसाब से यहां

दूसरा संकेतक बफे इंडिकेटर (Buffett Indicator) है. इसका जिक्र करते हुए कामथ ने कहा कि इसके आधार पर भी भारतीय शेयर बाजार सबसे महंगे बाजारों में से एक है. इस इंडिकेटर को दिग्गज निवेशक वॉरेन बफे ने शुरू किया था, इस इंडिकेटर में देश की जीडीपी से इंडेक्स मार्केट कैप को डिवाइड करके गणना की जाती है. पीई रेशियो की तरह ही हाई बफे इंडिकेटर भी महंगे बाजार की ओर संकेत करता है.

शेयर बाजार

कामथ के शेयर किए आंकड़ों पर नजर डालें तो अमेरिका का बफे इंडिकेटर 138.9 फीसदी, जबकि जापान का 113 फीसदी है. इसके बाद 94 फीसदी के साथ भारत को नंबर आता है, जो कि ब्रिटेन (89 फीसदी), ब्राजील (53 फीसदी), चीन (58.7 फीसदी) और जर्मनी (47.4 फीसदी) रोज शिखर बना रहा शेयर बाजार से कहीं ज्यादा है. गौरतलब है कि जेरोधा भारत में म्युचुअल फंड और बॉन्ड समेत अन्य वित्तीय सेवाएं देती है.

Share Market Crash: 8 दिन में इन्वेस्टर्स के डूबे 26 लाख करोड़ रुपये, इन कंपनियों की हुई हालत खराब

गुरुवार को सेंसेक्स 1,158.08 अंक (2.14 फीसदी) के नुकसान के साथ 52,930.31 अंक पर बंद हुआ था. इसी तरह एनएसई निफ्टी 359.10 अंक (2.22 फीसदी) के नुकसान के साथ 15,808 अंक पर बंद हुआ था. बीते 1 महीने में सेंसेक्स 5,500 अंक टूट चुका है. निफ्टी भी बीते एक महीने में करीब 10 फीसदी गिरा है.

डूबे इन्वेस्टर्स के पैसे

aajtak.in

  • नई दिल्ली,
  • 13 मई 2022,
  • (अपडेटेड 13 मई 2022, 9:05 AM IST)
  • भारी बिकवाली की चपेट में है बाजार
  • लगातार पैसे निकाल रहे फॉरेन इन्वेस्टर्स

दुनिया भर के शेयर बाजारों में (Share Market) पिछले कुछ दिनों से चौतरफा बिकवाली (Sell Off) का दौर चल रहा है. इसका असर भारतीय शेयर बाजार (Indian Share Market) के ऊपर भी हो रहा है. घरेलू बाजार पिछले 8 सेशन से हर रोज गिर रहे हैं. इस भारी बिकवाली के कारण बीते 8 दिनों में इन्वेस्टर्स (Investors) ने शेयर मार्केट में करीब 26 लाख करोड़ रुपये गंवा दिए हैं.

कल भी आई भारी गिरावट

पिछले साल शेयर बाजारों में जबरदस्त रैली देखने को मिली थी. हालांकि बीते कुछ महीनों से दुनिया भर के शेयर बाजार करेक्शन की चपेट में हैं. दशकों के हाई लेवल पर पहुंची महंगाई (Inflation) के कारण सेंट्रल बैंक्स (Central Banks) ब्याज दरें बढ़ा रहे हैं. इससे इन्वेस्टर्स का डर बढ़ रहा है. कोरोना महामारी की नई लहर की आशंका भी इन्वेस्टर्स की नींदें खराब कर रोज शिखर बना रहा शेयर बाजार रही हैं. कल यानी गुरुवार को बीएसई सेंसेक्स (BSE Sensex) और एनएसई निफ्टी (NSE Nifty) दोनों 2-2 फीसदी से ज्यादा टूट गए थे. इस कारण इन्वेस्टर्स ने एक ही दिन में 5 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा गंवा दिए थे.

सम्बंधित ख़बरें

कौन हैं जयंती चौहान, क्यों नहीं संभालना चाह रहीं पिता की Bisleri कंपनी?
Paytm निकला दशक का सबसे बर्बाद IPO, निवेशकों के 79% पैसे डूबे!
सेंसेक्स ने रोज शिखर बना रहा शेयर बाजार रचा इतिहास, टूटा पिछला रिकॉर्ड. All Time High पर पहुंचा इंडेक्स
क्यों बेचनी पड़ रही है Bisleri? कंपनी मालिक ने बताई वजह. बेटी का जिक्र!
एक से बढ़कर एक रॉकेट बनाती है कंपनी, एक साल से शेयर भी बना रॉकेट!

सम्बंधित ख़बरें

एक महीने में इतना गिरा बाजार

कल के कारोबार में सेंसेक्स की 30 कंपनियों में से महज 2 विप्रो (Wipro) और एचसीएल टेक (HCL Tech) ही ग्रीन जोन में रह पाईं. कारोबार के दौरान सेंसेक्स एक समय करीब 1,400 अंक तक गिर गया था. कारोबार समाप्त होने के बाद सेंसेक्स 1,158.08 अंक (2.14 फीसदी) के नुकसान के साथ 52,930.31 अंक पर बंद हुआ था. इसी तरह एनएसई निफ्टी 359.10 अंक (2.22 फीसदी) के नुकसान के साथ 15,808 अंक पर बंद हुआ था. बीते 1 महीने में सेंसेक्स 5,500 अंक टूट चुका है. निफ्टी भी बीते एक महीने में करीब 10 फीसदी गिरा है. आज शुक्रवार को भी बाजार में गिरावट रहने की आशंका है.

इतना कम हो गया कंपनियों का एमकैप

लगातार आ रही गिरावट के चलते बीएसई पर लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप (Market Cap) गिरकर 12 मई को 241.13 लाख करोड़ रुपये रह गया. यह 29 अप्रैल को 266.97 करोड़ रुपये के लेवल पर था. इस तरह महज आठ दिनों में शेयर मार्केट के इन्वेस्टर्स को करीब 26 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हो गया. शेयर मार्केट से एफपीआई (FPI) की लगातार बिकवाली, क्रूड ऑयल की अधिक कीमतें, रूस व यूक्रेन के बीच जारी जंग और भारत में भी बढ़ती महंगाई इन्वेस्टर्स की चिंता बढ़ा रही है. इन कारणों से इन्वेस्टर्स सुरक्षित निवेश के साधन खोज रहे हैं.

सिर्फ एक रोज शिखर बना रहा शेयर बाजार दिन आई मामूली तेजी

बीते आठ कारोबारी दिनों में एफपीआई भारतीय बाजार से 23,665 करोड़ रुपये निकाल चुके हैं. इससे पहले अप्रैल में फॉरेन इन्वेस्टर्स ने 40,652 करोड़ रुपये निकाले थे. इस महीने सेंसेक्स अब तक 4,130 अंक गिर चुका है. इस दौरान निफ्टी 1,294 अंक गिरा है. इस महीने सिर्फ एक दिन 05 मई को बाजार मामूली बढ़त में रहा है. उस दिन के कारोबार में सेंसेक्स 33.20 अंक और निफ्टी 5.05 अंक मजबूत हुआ था. इसके अलावा बाकी सभी सेशंस में दोनों मेजर इंडेक्स नुकसान में रहे हैं.

Stock Market: हफ्ते के दूसरे कारोबारी दिन शेयर बाजार में तेजी, Sensex 59,400 के पार निकला, निफ्टी भी मजबूत

निफ्टी 38.55 अंक की तेजी के साथ 17,704.35 अंक पर कारोबार कर रहा है।

Alok Kumar

Edited By: Alok Kumar @alocksone
Updated on: September 06, 2022 9:51 IST

Stock Market - India TV Hindi

Photo:FILE Stock Market

Highlights

  • 59,405.81 अंक पर कारोबार कर रहा है सेंसेक्स
  • 17,704.35 अंक पर कारोबार कर रहा है निफ्टी50
  • 31,318.44 अंक पर कारोबार कर रहा है डाउ जोंन्स फ्यूचर टूटकर

Stock Market: हफ्ते के दूसरे कारोबारी दिन मंगलवार को शेयर बाजार में तेजी देखने को मिल रही है। बीएसई सेंसेक्स 159.83 अंक उछलकर 59,405.81 अंक पर कारोबार कर रहा है। निफ्टी50 भी मजबूती के साथ खुला है। निफ्टी 38.55 अंक की तेजी के साथ 17,704.35 अंक पर कारोबार कर रहा है। अगर सेंसेक्स में शामिल शेयरों पर नजर डालें तो POWERGRID, NTPC, BHARTIARTL, TITAN, RELIANCE, HDFCBANK, MARUTI, INDUSINDBK और HDFC में तेजी देखने को मिल रही हैं। वहीं, HCLTECH, TATASTEEL, SUNPHARMA, INFY, TCS, ASIANPAINT, और NESTLEIND शेयरों में गिरावट है।

442 अंक से अधिक चढ़ा था सेंसेक्स

सोमवार को बीएसई सेंसेक्स 442 अंक से अधिक चढ़कर एक बार फिर 59,000 अंक के स्तर के पार निकल गयाथा। तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 442.65 अंक यानी 0.75 प्रतिशत मजबूत होकर 59,245.98 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान एक समय यह 504.92 अंक तक चढ़ गया था। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 126.35 अंक यानी 0.72 प्रतिशत चढ़कर 17,665.80 अंक पर बंद हुआ। कारोबारियों के अनुसार सूचकांक में मजबूत हिस्सेदारी रखने वाले रिलायंस इंडस्ट्रीज, सन फार्मा और आईटीसी शेयरों में अच्छी लिवाली तथा रुपये की विनिमय दर में तेजी से बाजार धारणा को मजबूती मिली। सेंसेक्स के शेयरों में सन फार्मा सबसे अधिक 1.81 प्रतिशत मजबूत हुआ। इसके अलावा, आईटीसी, एनटीपीसी, रिलायंस इंडस्ट्रीज, लार्सन एंड टुब्रो, टाटा स्टील, एचसीएल टेक्नोलॉजीज और आईसीआईसीआई बैंक प्रमुख रूप से लाभ में रहे।

इस कारण लौटी है बाजार में तेजी

कोटक सिक्योरिटीज लि.के इक्विटी शोध प्रमुख श्रीकांत चौहान ने कहा, ‘‘घरेलू शेयर बाजार ने एशिया के अन्य बाजारों में गिरावट तथा यूरोप में कमजोर रुख को नजरअंदाज किया। इसका कारण निवेशकों की धातु, बैंक और पूंजीगत शेयरों में लिवाली है। हालांकि, सतर्क रुख बना हुआ है क्योंकि वैश्विक नरमी के अंदेशे में बाजार में उतार-चढ़ाव बना रह सकता है।’’

Stock Market: सेंसेक्स-निफ्टी ने बनाया रिकॉर्ड हाई, जानें बाजार में तेजी की वजह

टाटा कंज्यूमर, TCS, लार्सन, भारती एयरटेल, HCL टेक, विप्रो और इंफोसिस के शेयरों ने अपना 52 हफ्तों का नया हाई बनाया

Stock Market: सेंसेक्स-निफ्टी ने बनाया रिकॉर्ड हाई, जानें बाजार में तेजी की वजह

हफ्ते के आखिरी कारोबारी दिन शुक्रवार को भारतीय शेयर बाजार (Share Market) रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुआ. मार्केट के बंद होते समय BSE का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स (Sensex) 1.08% यानि करीब 600 अंक चढ़कर 55,437 पर रहा. जबकि NSE निफ्टी भी लगभग 1% रोज शिखर बना रहा शेयर बाजार की तेजी के साथ 16,500 के ऊपर बंद हुआ. IT, फाइनेंशियल सर्विस, FMCG और मेटल इंडेक्स के स्टॉक्स में अच्छी खरीदारी देखी गयी.

शुक्रवार को सेंसेक्स ने पहली बार 55,000 का आंकड़ा पार किया. वहीं, निफ्टी भी पहली दफा 16,500 के ऊपर पहुंचा.

रोज शिखर बना रहा शेयर बाजार

जुलाई में खुदरा महंगाई दर जून के 6.29% की तुलना में से कम रहते हुए 5.59% रहा. जून में औद्योगिक उत्पादन 13.6 प्रतिशत बढ़ा. अच्छे आर्थिक आकड़े से मार्केट को सपोर्ट मिल रहा है.

रिटेल इन्वेस्टर और घरेलू संस्थागत निवेशकों (DIIs) के द्वारा बाजार में अच्छी खरीदारी की जारी है.

अमेरिका का S&P 500 इंडेक्स पिछले कई दिनों से रिकॉर्ड हाई बना रहा है. इससे भी घरेलू बाजार का सेंटीमेंट खरीदारी का है.

कोविड के दूसरे लहर के बावजूद कंपनियों के तिमाही नतीजे मार्केट एक्सपर्टस के अनुमान पर खरे उतरे. अब जब आर्थिक गतिविधियां फिर से नॉर्मल हो रही है, आने वाले जून-सितम्बर तिमाही में कंपनियों के सेल्स और प्रॉफिट में बढ़ोतरी का अनुमान लगाया जा रहा है.

13 अगस्त के कारोबार की बड़ी बातें

सेंसेक्स के 30 शेयरों में से 21 शेयर हरे निशान में बंद हुए. जबकि बाजार बंद होते समय निफ्टी पैक के 30 शेयरों में मजबूती रही.रोज शिखर बना रहा शेयर बाजार

निफ्टी 50 पैक में टाटा कंज्यूमर, TCS, लार्सन, भारती एयरटेल, HCL टेक, विप्रो और इंफोसिस के शेयरों ने अपना 52 हफ्तों का नया हाई बनाया.

निफ्टी मिडकैप 100 इंडेक्स 0.3% की कमजोरी के साथ बंद हुआ. वहीं, निफ्टी स्मालकैप 100 इंडेक्स 0.39% नीचे रहा.

वोलैटिलिटी इंडेक्स (VIX) 5.01% की मजबूती के बाद 12.99 पर आ गया है.

निफ्टी-50 के इन शेयरों में दिखी सर्वाधिक तेजी

निफ्टी में टाटा कंज्यूमर के स्टॉक में सबसे अधिक 4% की तेजी रही. TCS, लार्सन एंड टुर्बो (LT), HCL टेक और टाटा स्टील के शेयरों ने 3.11% तक का मुनाफा बनाया. आयशर मोटर्स, डॉ रेड्डी लैब्स, पावर ग्रिड और सिप्ला में सबसे ज्यादा कमजोरी रही.

रेटिंग: 4.85
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 324