NFT Token क्या है और यह Token कैसे काम करता है ?

NFT Token Kya Hai in Hindi: आजकल पेमेंट करने के नए नए तरीके खोजे जा रहे है जैसे UPI से, eRUPI वाउचर से, direct digital transfer से, क्रिप्टोकोर्रेंसी आदि और भी बहुत है। इन सभी payment ऑप्शन ने pay करने के तरीकों को और ज्यादा आसान बना दिया है। कोई कहीं से भी किसी को giftcard के रूप में gift voucher भेज सकता है या कुछ ऑनलाइन गोल्ड में भी इन्वेस्ट कर सकता है या फिर ट्रेडिंग कर सकता है cryptocurrency में जिस तरह अलग अलग प्रकार के टोकन होते है ठीक वैसे ही NFT टोकन भी एक तरह का क्रिप्टो टोकन है।

बहुत से एक्सपर्ट यह भी बोलते है की NFT टोकन ज्यादा दिन तक नहीं चलने वाले और कुछ का तो यह तक कहना है कि यह भी cryptocurrency की ही तरह मार्केट में धूम मचाएगा। पर आज के इस article में हम NFT Token kya hai, इसके फायदे है क्या risk है और अन्य जानकारी पर भी बात करूँगा।

Table of Contents

NFT की full form

NFT की full form होती है Non Fungible token और हिंदी में इसे गैर कवक टोकन कहा जाता है।

NFT क्या है? (NFT Kya Hai in Hindi)

NFT एक प्रकार का टोकन होता है जो एक अलग तरह की identity का काम करता है। मान लीजिये आपके पास कोई ऐसी डिजिटल चीज़ है जो बहुत ही यूनिक है मतलब की जो सिर्फ आपके पास है या जिसके मालिक सिर्फ आप है तो आप NFT बनवा सकते है जो आपकी ओनरशिप को prove करेगा ठीक इसी तरह से ये टोकन एक डिजिटल आइडेंटिटी को वेरीफाई करता है। जिस तरह सभी cryptocurrency काम करती है और blockchain से जुड़ी होती है वैसे ही NFT टोकन भी एक तरह से इनी का हिस्सा है और ये भी ज्यादातर ब्लॉकचैन से जुड़ा है या थोड़ा-थोड़ा क्रिप्टोकोर्रेंसी जैसे ही काम करता है।

अभी NFT एक दम नया concept है जिसके बारे में अलग तरह की बातें सामने आ रही है बहुत से financial experts ये बोल रहे है की NFT कैसे काम करता है? ये टोकन आने वाले समय में transaction identification में बहुत मददगार साबित होगा तो कुछ लोग इस unique identification के तरीके से सहमत नहीं है उनका मानना है कि इस तरह की digital ownership अस्थाई है और इसका कोई वजूद नहीं है। NFT token को बनाने में भी उसी टेक्नोलॉजी का उपयोग किया गया है जिसका उपयोग cryptocurrency में किया जाता है।

NFT टोकन काम कैसे करता है?

  • NFT टोकन की form में अलग अलग तरह की चीज़ो को tokenized किया जाता है जैसे कोई आर्टवर्क (Artwork), कोई गेम (Games) या कोई वीडियो (Video) या फिर कोई भी लाइव वीडियो (Live video broadcast) सिर्फ इतना ही नहीं आप अगर अपने कॉलेज की डिग्री की भी NFT karna चाहते है तो वो भी हो सकती है इससे आप ये प्रमाण(proof) दे पायेगे की वो आप की ही degree है।
  • ऊपर दी हुई चीज़ो में से आपको जिसकी भी NFT करनी है आप करवा सकते है। NFT करवाने के बाद उस चीज़ के मालिक आप कहलायेंगे मालिक से मेरे कहने का मतलब है की सिर्फ जो एक प्रोडक्ट आपने ख़रीदा है सिर्फ उसके मालिक आप होंगे।
  • उदाहरण के लिए, मान लीजिये आपने अभी अभी किसी कॉलेज से पढाई पूरी करी है और कॉलेज ने आपको आपकी डिग्री की NFT भी करके दी है इससे आपको ये फायदा होगा की जब भी आप किसी jobs interview में अपनी डिग्री का NFT टोकन उस interview लेने वाले को दिखाएंगे। इससे NFT कैसे काम करता है? वो इंटरव्यू लेने वाला समझ जायेगा की इस degree के मालिक (owner) आप है और आपने अपनी पढ़ाई पूरी करके हासिल करी है।

NFT टोकन कैसे ख़रीदे (NFT token kaise kharide)

कोई भी NFT टोकन को बेच या खरीद सकता है देखते है कैसे –

  • अगर आप भी NFT खरीदना चाहते है तो उसके लिए काफी सारे अलग अलग types के online platform है जहा से आप लोग NFT टोकन खरीद सकते है जैसे की Open Sea, Nifty Gateway, Super Rare एंड Rarible आदि प्लेटफार्म से आप NFT टोकन खरीद सकते है।
  • आपको ऊपर दिए में से किसी भी प्लेटफार्म पर SignUp अकाउंट बनाना होगा उसके बाद आप चाहे तो cryptocurrency का उपयोग करके भी NFT टोकन को खरीद सकते है।

NFT के फायदे (NFT token benefits)

NFT Kya Hai in Hindi: NFT टोकन के अनेक फायदे है NFT कैसे काम करता है? हम एक एक करके यहाँ डिस्कस (discuss) करने वाले है –

  • NFT टोकन को बढ़ी ही आसानी के साथ ट्रांसफर किया जा सकता है यानी ये transferable होते है।
  • इस तरह के टोकन बेहद ही trustworthy होते है और अगर ये एक बार आपके लिए आपके लिए issue हो जाये तो ये आपके ही रहेंगे जब तक आप चाहे यानी कोई भी इन्हे चोरी नहीं कर सकते।
  • इन NFT टोकन के जरिये आप अपनी ownership को भी बनाये रख सकते है इसका ये मतलब है की कोई भी अन्य व्यक्ति आपकी ownership से छेड़ छाड़ः नहीं कर सकता।

NFT टोकन में risk

NFT Kya Hai in Hindi, इसको समझने के बाद ab हम यहाँ उसे जुड़े कुछ risk के बारे में बात कर रहे है –

  • ऐसी किसी भी digital currency की कोई गारंटी (gurranty) नहीं होती की कब तक इसकी value बानी रहेगी और कब down होगी इसलिए इसे लेने मे कुछ risk भी रहता है।
  • अभी तक NFT टोकन एक नई currency है और ठीक से regulate भी नहीं है तो इसलिए इस पर लोग काम विश्वास करते है।
  • NFT टोकन पूरी तरीके से digital होती है जिसे blockchain कण्ट्रोल (control) करती है पर अगर किसी कारण टेक्नोलॉजी affect हो तो इस करेंसी को check कर पाना या access कर पाना मुश्किल task है तो हम ये भी बोल सकते है की ये NFT टोकन ज्यादा सुरक्षित या safe नहीं होते।

NFT टोकन और Cryptocurrency में अंतर

NFT टोकन(NFT token)क्रिप्टोकर्रेंसी (Cryptocurrency)
ये Non Fungible Tokens है। इन्हे Fungible Tokens भी बोला जाता है।
ये digital assets होते है। digital करेंसी है।
इस तरह की currency किसी product ownership के लिए बनाई जाती है।इस तरह की currency payment करने के purpose से बनाई जाती है।


NFT की full form क्या है?

NFT की full form होती है Non Fungible token (गैर कवक टोकन)।

लोग NFT टोकन क्यों खरीदते है?

NFT टोकन इसलिए ज्यादा बिक रहे है क्योकि जो आर्टिस्ट होते है। वो अपने किसी भी digital product जैसे art की ownership ले सकते है।


क्या NFT token और Cryptocurrency दोनों एक ही है?

नहीं, NFT token और Cryptocurrency ये दोनों अलग अलग होते है NFT एक तरह से digital asset है। जबकि ये जो cryptocurrency होती है वो तो digital currency कहलाती है।

NFT token का यूज़ कहा कहा होता है?

NFT token का ज्यादातर उपयोग किसी भी प्रोडक्ट की ओनरशिप के लिए होता है। अगर किसी person ने कोई प्रोडक्ट बनाया है जैसे art etc. तो NFT token के जरिये वो उस प्रोडक्ट की ओनरशिप ले सकता है।

ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी क्या है?

ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी (blockchain technology) एक ऐसी टेक्नोलॉजी को बोलते है जहा कोई भी digital cryptocurrency या इनफार्मेशन को इस तरीके से record रख सकते है। की उस जानकारी को कोई भी हैक न कर सके, कुछ भी information कोई भी edit न कर सके वो इनफार्मेशन जैसी थी वैसे ही सुरक्षित रहेगी।

NFT क्या है और कैसे खरीदे | What is NFT and How to buy

NFT image with caption

दुनिया जैसे जैसे डिजिटाइजेशन की ओर बढ़ रही है , वैसे वैसे हमें नयी टेक्नोलॉजी देखने और सुनने को मिल रही है । ऐसी ही एक टेक्नोलॉजी NFT कैसे काम करता है? NFT है , जिसका पिछले कुछ समय से मार्किट में नाम काफी चर्चा में है । इसका अंदाज़ा आप इस बात से ही लगा सकते है की गूगल के ग्लोबल डाटा के अनुसार , गूगल सर्च में NFT ने क्रिप्टोकोर्रेंसी को भी पछाड़ दिया है । इसके साथ ही पिछले कुछ समय से NFT का नाम भारतीय मार्किट में बहुत तेज़ी से बढ़ रहा है । तो आज हम इस आर्टिकल की मदद से जानेगे की NFT क्या है , NFT काम कैसे करता है इत्यादि ।

Table of Contents

NFT क्या होता है ?

NFT का पूरा नाम “Non-Fungible Token” है । NFTs वो टोकन होते है , जिसका इस्तेमाल हम किसी यूनिक चीज़ के ओनरशिप को दर्शाने के लिए करते है । यह एक ethereum blockchain पर बेस्ड टेक्नोलॉजी है । इसकी मदद से डिजिटल कंटेंट जैसे की videos , songs , image इत्यादि को खरीद या बेच सकते है ।

NFT काम कैसे करता है ?

NFT टेक्नोलॉजी ethereum blockchain पर बेस्ड एक टेक्नोलॉजी है । NFT का एक समय पर एक ही owner हो सकता है , जिसे unique id और metadata की मदद से मैनेज किया जाता है । जिसे कोई और टोकन रेप्लिकेट नहीं कर सकता है । Bitcoin और dogecoin क्रिप्टोकोर्रेंसी की तरह ही Ethereum भी एक cryptocurrency है । उदाहरण के लिए दो लोग आपस में 200 ₹ नोट एक्सचेंज कर सकते है , जिससे कोई फड़क नहीं पड़ेगा । मगर अगर किसी के पास कोई डिजिटल कंटेंट है NFT के रूप में तो वो बिलकुल यूनिक होगा । क्यूंकि उस डिजिटल कंटेंट की कॉपी तो हो सकती है , मगर उस NFT की नहीं । क्यूंकि उस NFT में उस डिजिटल कंटेंट के ओनर और सेलर की जानकारी होगी , जिससे ओरिजिनल कंटेंट को आसानी से पहचाना जा सकता है ।

NFT कैसे ख़रीदे : Step by Step guide ?

NFT खरीदने के लिए नीचे दिए गए सभी स्टेप्स को फॉलो करें :

  1. सबसे NFT कैसे काम करता है? पहले अपने पसंद अनुसार NFT marketplace चुन ले । उदाहरण के लिए OpenSea , Rarible इत्यादि ।
  2. अब आप इनमें किसी एक platform पर अपने आप को register कर लें ।
  3. इसके बाद आप अपने wallet को कनेक्ट कर लें , इसके लिए बहुत सारे प्लेटफार्म पर “Connect Wallet” नाम का एक आसान ऑप्शन भी मिलता है ।
  4. फिर आप अपने पसंद अनुसार NFT के auction में भाग लें । NFT कैसे काम करता है? यदि आप उस auction में जीत जाते है , तो वो NFT आपका हो जायेगा ।

अपना NFT कैसे क्रिएट करें : Step by step guide ?

अगर आप भी NFT से पैसे कमाना चाहते है , तो आप भी अपना NFT बनाकर बेच सकते है । NFT बनाने के लिए आप निचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें :

  1. सबसे पहले अपने पसंद अनुसार NFT marketplace चुन ले । उदाहरण के लिए OpenSea , Rarible इत्यादि ।
  2. अब आप इनमें किसी एक platform पर अपने आप को register कर लें ।
  3. इसके बाद आप अपने wallet को कनेक्ट कर लें , इसके लिए बहुत सारे प्लेटफार्म पर “Connect Wallet” नाम का ऑप्शन भी मिलता है ।
  4. इसके बाद आप टॉप राइट साइड में “create” के ऑप्शन को सेलेक्ट करें , फिर आप अपना NFT बना लें ।
  5. अब आप अपने NFT को अपने price अनुसार लिस्ट कर दें ।

Q. NFT का फुल फॉर्म क्या है ?

Ans. NFT का फुल फॉर्म “Non-Fungible Token” होता है । ये एक blockchain बेस्ड टेक्नोलॉजी है , जो की Ethereum crypto पर बेस्ड है ।

Q. सबसे बड़ा NFT प्लेटफार्म कौन सा है ?

Ans. अभी के समय सबसे बड़ा NFT प्लेटफार्म OpenSea है , जिस पर जाकर आप NFT खरीद या बेच सकते है । मगर इसके अलावा भी बहुत सारे NFT प्लेटफार्म है , जैसे की Rarible , SuperRare इत्यादि ।

Q. क्या हम अपना खुद का NFT बना सकते है ?

Ans. जी हाँ , आप अपना खुद NFT बना सकते है और उसे बेच भी सकते है ।

मैं आशा करता हूँ , की इस आर्टिकल से आपको NFT के बारें में काफी कुछ सीखने को मिला होगा । इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपके NFT से जुड़े काफी सारे सवालों के जवाब आपको मिल गए होंगे । यदि फिर भी आपके मन में कोई सवाल या सुझाव रहता है , तो आप हमें नीचे कमेंट करके बता सकते है ।

What is NFT in hindi : NFT क्या है? NFT कैसे काम करता है? | NFT Meaning in hindi | NFT full form

एनएफटी क्या है? NFT क्या होता है? NFT full form क्या है? यह सब जानने के लिए यह आर्टिकल पूरा पढ़े. आज के समय में इंटरनेट पर एनएफटी की काफी चर्चा हो रही है, शायद आप भी क्रिप्टो करेंसी के बारे में जानते होंगे अगर नही जानते तो निचे दिए हुए लिंक कर क्लिक करने आप पूरा क्रिप्टो करेंसी के बारे में पड़ सकते है-

क्या है एनएफटी (What is NFT in hindi)

what is nft in hindi

NFT Cryptographic Token है जो किसी भी यूनिक चीज को शो करता है, या यू कहे तो यह ऐसे डिजिटल एसेट्स हैं जो वॉलेट जनरेट करते हैं. NFT बिटकॉइन की तरह क्रिप्टोकन है, जिसमें आपको Digital Arts, Musium , Film का कलेक्शन मिलता है, NfT का लेनदेन Blockchain Technology से बनाई गई बिटकॉइन जैसे क्रिप्टोकरंसी से किया जा सकता है, एनएफटी से हम डिजिटल तरीके से वर्चुअल चीजें खरीद सकते हैं.

NFT full form "Non-Fungible Token" है.

NFT (Not Fungible Token) काफी यूनिक है, इसलिए दो NFT कभी भी आपस में मैच नहीं कर सकते और उनके डुप्लीकेट भी नहीं बनाए जा सकते, ज्यादातर NFT Ethereums पर क्रिएट किए गए हैं, इन्हें भी दूसरे एसेट्स की तरह खरीदा और बेचा जा सकता है.

What is Fungible and Non-Fungible :

एक व्यक्ति दूसरे व्यक्ति को जब बिटकॉइन ट्रांसफर करता है, तो इससे फंगीबल कहते हैं. जबकि इसके विपरीत यदि कोई व्यक्ति डिजिटल फाइल को खरीदे या बेचे और उसके ऊपर टोकन लगाये जो कि उसके मालिक की पहचान बताता यह Non Fungible कहलाता है.

एनएफटी कैसे काम करता है? ( Who to work NFT ) :

NFT Smart Contracts का यूज करता है NFT के लेनदेन का रिकॉर्ड रखता है, ब्लॉकचेन की डिजिटल जानकारी का रिकॉर्ड और डिसटीब्यूट करने की परमिशन देता है.

एनएफटी कैसे बनता है? (How is NFT made?)

एनएफटी के ट्रांजैक्शन भी cryptocurrency में किए जाते हैं NFT एक तरह से आर्ट और डिजिटल वर्ल्ड का मिश्रण है, जब आपका art वर्ल्ड में स्थापित हो जाए ओर कुछ लोगों को उस में कुछ विचित्र दिख जाए तो यह NFT के रूप में घोषित किया जाता है।

NFT ( Non-Fungible Token) कैसे खरीदें? (How to Buy NFT)

अगर आपको nft खरीदना है तो इसके लिए आपके पास डिजिटल वॉलेट का होना जरूरी है आपके वॉलेट में इथर जैसे क्रिप्टोकरंसी होनी चाहिए जिसके जरिए एनएफटी को खरीदा जा सकता है, हर प्लेटफार्म पर एनएफटी के लेनदेन के लिए कुछ परसेंट चार्ज दिया जाता है इसका विशेष ध्यान रखें.

एनएफटी का यूज कैसे करें? ( How to use NFT? )

एनएफटी Artist को अपनी कीमती चीजों को बेचने के लिए बड़ा प्लेटफार्म प्रोवाइड कराता है और आर्टिस्ट इस प्लेटफार्म से सीधे Consumer को NFT बेच सकते हैं, किसी आर्टिस्ट का क्रिएशन कही और भी बिकता है तो उन्हें उस पर रॉयल्टी भी मिलती है।

अपना खुद का Not Fungible Token कैसे बनाएं? (How to make NFT)

अपना खुद का एन एफ टी तैयार करने के लिए सबसे पहले आपको ऑनलाइन वॉलेट क्रिएट करना होगा जिसमें NFT रखी जा सके जिसे privet key की मदद से एक्सेस किया जा सकता है यह एक पासवर्ड की तरह होता है.

एनएफटी का यूज कहां किया जाता है? (Where is NFT used? )

एनएफटी आर्टिस्ट कोई फोटोग्राफी या वीडियो , डॉक्यूमेंट आदि को ब्लैकचैन में अपलोड करके टोकन ले सकता है व रजिस्टर कर सकता है आर्टिस्ट किसी भी फाइल को अपलोड कर सकते हैं, वहा आपका एक यूनिक टोकन जनरेट हो जाएगा जिसे आप यूज कर सकते हैं.

एनएफटी के लिए कैसे करें रजिस्ट्रेशन? (How to register for NFT? )

सबसे पहले एक डिजिटल आर्ट तैयार करें, उसे आप ब्लॉक चैन से संबंधित किसी भी वेबसाइट को विजिट करके एक purticulor वेबसाइट पर अकाउंट बनाएं, अकाउंट वेरीफाई करें, अब आपको कोई भी डिजिटल आर्ट खरीदना है या बेचना हो उस प्रोडक्ट का ऑप्शन दिया जाएगा, उसमें अपने डिजिटल आर्ट अपलोड करें अपलोड करने के बाद एक टोकन आईडी दी जाती है जो कि ओनर को दर्शाता है.

इलेक्ट्रिक मार्केटिंग प्लेस :

एनएफटी मार्केटिंग प्लेस एक डिजिटल प्लेटफॉर्म है जो सभी कलाकारों का निफ्टी बनाने और अपूरणीय टोकन में व्यापार करने की अनुमति देता है जहां से आप अपने डिजिटल वॉलेट से कोई भी वस्तु खरीद सकते हैं.

NFT कैसे काम करता हैं?

फ़िलहाल NFT एक ही ब्लॉकचेन पर मौजूद हैं जो की एथेरियम ब्लॉकचैन है। एथेरियम एक क्रिप्टोकरेंसी प्लेटफॉर्म है जो स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट्स का उपयोग करता है और इस प्रकार, प्रत्येक NFT अविनाशी है और इसे दोहराया नहीं जा सकता है।

NFT भी ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी से बना है। यह एक सार्वजनिक बही खाता है जो लेनदेन का रिकॉर्ड रखता है। ब्लॉकचेन डिजिटल जानकारी को रिकॉर्ड और डिस्ट्रीब्यूट करने की अनुमति देता है।
ब्लॉकचेन लेनदेन का एक ऐसा रिकॉर्ड है जिसे बदला, हटाया NFT कैसे काम करता है? या नष्ट नहीं किया जा सकता है। ब्लॉकचेन को डिस्ट्रिब्यूटेड लेजर टेक्नोलॉजी, यानी DLT के रूप में भी जाना जाता है।
ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का क्रिप्टोकरेंसी के साथ दूसरे कामों में भी इस्तेमाल किया जा रहा है। विशेष रूप से NFT जैसे डिजिटल एसेट की खरीद और बिक्री में एथरियम ब्लॉकचेन पर होती हैं।
NFT डिजिटल वर्ल्ड में मूर्त और अमूर्त, दोनों वस्तुओं का रिप्रजेंट करती है। इनमें आर्ट, GIF, वीडियो, म्यूजिक, मैसेज और ट्वीट जैसी चीजें शामिल होती हैं।
इसे एक उदाहरण से समझ सकते हैं- पिछले साल ट्विटर के पूर्व CEO जैक डोर्सी ने अपना पहला ट्वीट ‘just setting up my twttr’ को NFT के रूप में बेचा।
मार्च 2006 में पोस्ट किया गया यह ट्वीट डिजिटल इतिहास का एक अहम हिस्सा होने की वजह से 38 लाख डॉलर, यानी करीब 17 करोड़ रुपए में बिका।

भारतीय कलाकार और निर्माता स्वदेशी क्रिप्टोकरेंसी प्लेटफॉर्म CoinSwitch या WazirX से लाभान्वित हो सकते हैं, यह Apps/ प्लेटफ्रॉम NFT उपयोगकर्ताओं के लिए देश का पहला बाज़ार स्थल वीडियो बना सकता है।

जो ऑडियो फ़ाइलें, आर्ट पीसेस बना सकता है या उनके बौद्धिक संपत्तियों जैसेकि, ट्वीट्स की सूची बना सकता है और उन्हें नीलामी के लिए मंच पर सूचीबद्ध कर सकता है।

नॉन-फंजिबल टोकन का इस्तेमाल डिजिटल असेट्स या सामानों के लिए किया जा सकता है जो एक दूसरे से अलग होते हैं। इससे उनकी कीमत और यूनिकनेस साबित होती है।

ये वर्चुअल गेम्स से आर्टवर्क तक हर चीज के लिए स्वीकृति प्रदान कर सकते हैं। NFT को स्टैंडर्ड NFT कैसे काम करता है? और ट्रेडिशनल एक्सचेंजेज में ट्रेड नहीं किया जा सकता है। इन्हें डिजिटल मार्केटप्लेस में खरीदा या बेचा जा सकता है।

NFT कैसे बनता है?
एनएफटी ब्लॉकचेन पर काम करता है और इससे जुड़े ट्रांजैक्शन भी NFT कैसे काम करता है? क्रिप्टोकरेंसी में किए जाते हैं। ब्लॉकचेन एक तरह का डिजिटल लेजर है जैसे बैंकों में होता है, लेकिन ये बैंक से अलग है, क्योंकि ये डिसेंट्रलाइज्ड है।

एनएफटी एक तरह से आर्ट और डिजिटल वर्ल्ड का मिश्रण है। जब आपका आर्ट डिजिटल दुनिया में स्थापित हो जाए, लोगों को उसमें कुछ विचित्र दिख जाए तो वह एनएफटी के रूप में घोषित हो जाता है।

बिटकॉइन से इसकी तुलना करें तो NFT कैसे काम करता है? यह उसी क्रिप्टोकरंसी की तरह किसी टोकन के रूप में होता है। लेकिन यह टोकन दिखता नहीं है। बिना देखे इसे खरीद और बेच सकते हैं, भारी मुनाफा कमा सकते हैं।

NFT क्या है, nft kya hai
इस डिजिटल टोकन को ओनरशिप का वैलिड सर्टिफिकेट प्राप्त होता है। जिस भी व्यक्ति का आर्ट इस कैटगरी में आता है, उसके आर्ट को ओनरशिप का सर्टिफिकेट मिल जाता है।

इसी के साथ उस आर्ट से जुड़े सभी अधिकार उसके मालिक के पास चला जाता है। डिजिटल सर्टिफिकेट यह तय करता है कि उसका डुप्लीकेट नहीं बनाया जा सकता। एक तरह से यह कॉपीराइट का अधिकार देता है।

NFT कैसे खरीदें?
यदि आपको खुद का NFT कलेक्शन बनाना है तो आपके पास सबसे पहले एक डिजिटल वॉलेट होना चाहिए। इसी वॉलेट के जरिए आपको NFT और क्रिप्टोकरेंसी को स्टोर करने की अनुमति मिलेगी।

वॉलेट में ईथर जैसी कोई क्रिप्टोकरेंसी होनी चाहिए, जिनके जरिए NFT को खरीदा जा सकता है।

आप अब Coinbase, Kraken, eToro, PayPal और Robinhood now जैसे प्लेटफॉर्म पर क्रेडिट कार्ड का उपयोग करके ईथर जैसी क्रिप्टो करेंसी खरीद सकते हैं।

ये प्लेटफॉर्म हर लेन-देन पर कुछ परसेंट चार्ज लेते हैं। लेन-देन करते हुए इसका ध्यान जरूर रखें।

NFT का यूज कैसे किया जाता है?
ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी और NFT आर्टिस्ट और कंटेंट क्रिएटर्स को अपनी कीमती चीजों को मॉनेटाइज करने, यानी बेचने के लिए बड़ा प्लेटफॉर्म देता है।
आर्टिस्ट इसे सीधे कंज्यूमर को NFT के रूप में बेच सकता है। इससे उन्हें ज्यादा फायदा भी मिलता है।
NFT से किसी आर्टिस्ट को अब अपनी आर्ट बेचने के लिए गैलरी या नीलामी घरों पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा। वो खुद नीलामी कर सकते हैं।
यही नहीं अगर किसी आर्टिस्ट का क्रिएशन कहीं और बिकता है NFT कैसे काम करता है? तो उन्हें उस पर रॉयल्टी भी मिलेगी। यह विशेषता सिर्फ NFT में ही है। आमतौर पर किसी आर्टिस्ट को उसकी आर्ट पहली बार बिकने पर ही पैसा मिलता है।

अपना NFT कैसे बनाएं?
खुद का NFT तैयार करने के लिए सबसे पहले आपको एक ऑनलाइन वॉलेट क्रिएट करना होगा, जिसमें NFTs होल्ड की जा सकें।
क्रिप्टो-असेट्स को जिस वॉलेट में स्टोर किया जाता है, उसे ‘प्राइवेट की’ की मदद से ऐक्सेस किया जा सकता है।
यह प्राइवेट की किसी सुपर-सिक्योर पासवर्ड की तरह काम करती है, जिसके बिना NFT ओनर टोकन्स ऐक्सेस नहीं कर सकते।
इस वॉलेट को आपको मेटामास्क जैसी किसी सर्विस से लिंक करना होगा।

रेटिंग: 4.58
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 599